खास लोग
  • खबरें
  • लेख
बिग बैंग सिद्धांत के जनक जॉर्ज लमेत्र के 124वें जन्मदिन पर गूगल ने बनाया डूडल जनता जनार्दन डेस्क ,  Jul 17, 2018
सर्च इंजन गूगल दिग्गज हस्तियों को याद करता रहता है। आज गूगल ने जॉर्ज हेनरी जोसेफ एडवर्ड ल्यूमे, जिन्हें जॉर्ज लमेत्र के नाम से भी जाना जाता है को डूडल बनाकर याद किया है। इन पर गूगल ने एक डूडल बनाया है। दरअसल आज जॉर्ज हेनरी का जन्मदिन है। आज से 124 साल पहले जॉर्ज हेनरी का जन्म हुआ था। ....  समाचार पढ़ें
हर्बट सेसिल बूथ का 147वां जन्मदिनः गूगल डूडल ने वैक्यूम क्लीनर बनाने वाले को किया याद जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jul 04, 2018
गूगल ने ब्रिटिश इंजीनियर हर्बट सेसिल बूथ के 147वें जन्मदिन पर डूडल बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी है. हर्बट सेसिल बूथ ने पहले पावर्ड वैक्यूम क्लीनर की खोज की थी, जो मिट्टी को भी सोख सकता था. इससे पहले जो वैक्यूम क्लीनर इस्तेमाल होते थे वो मिट्टी को सोखते नहीं थे, बल्कि उसे दूर करते थे. ....  समाचार पढ़ें
महान गणितज्ञ गॉटफ्रीड विल्हेम लैबनिज़ की 375वीं जयंती पर गूगल का डूडल जनता जनार्दन डेस्क ,  Jul 01, 2018
सर्च ईंजन गूगल ने आज जर्मनी के दार्शनिक गॉटफ्रीड विल्हेम लैबनिज़ को सम्मान दिया है। दुनिया के इस महान गणितज्ञ और दार्शनिक की आज 375 जयंती है। गॉटफ्रीड विल्हेम लैबनिज़ गणित और दर्शन शास्त्र के बड़े विद्धान थे। यांत्रिक गणना के क्षेत्र में लैबनिज ने बड़े पैमाने पर काम किया। उन्हें कैलकुलेटिंग मशीन का आविष्कारक भी माना जाता है। ....  समाचार पढ़ें
प्रशांत चंद्र महालनोबिस का 125वां जन्मदिन, गूगल ने डूडल बनाकर किया याद जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jun 29, 2018
आज जाने-माने सांख्यिकीविद और वैज्ञानिक प्रशांत चंद्र महालनोबिस का 125वां जन्मदिन है. इस मौके पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें याद किया है. भारत के पहले योजना आयोग के सदस्य रह चुके महालनोबिस को सांख्यिकी के क्षेत्र में किए गए उनके अतुलनीय काम के लिए जाना जाता है. इसके अलावा जनसंख्या स्टडी में जनसंख्या का पता लगाने के लिए काम आने वाले 'महालनोबिस मॉडल' के लिए भी महालनोबिस को याद किया जाता है. महालनोबिस की मृत्यु 28 जून 1972 को हुई थी. ....  समाचार पढ़ें
गूगल ने ग्लास साइंटिस्ट मार्गा फॉलस्टिच की 103वीं जयंती पर बनाया डूडल जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jun 16, 2018
सर्च इंजन गूगल आज ग्लास साइंटिस्ट फॉलस्टिच को याद कर रहा है. मार्गा फॉलस्टिच जर्मनी की वो महिला थीं जिन्हें शीशे की 300 किस्मों पर काम किया. गूगल ने आज उनकी 103वीं जयंती पर अपने होम पेज पर विज्ञान जगत में उनके योगदान को याद किया है. गूगल ने एक ग्लास और उससे जुड़े आविष्कारों के एक कोलाज का एक डूडल अपने होम पेज पर लगाया है. ....  समाचार पढ़ें
भाजपा के करीबी धार्मिक नेता भय्यूजी महाराज ने खुद को गोली मारी, अस्पताल में मौत जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jun 12, 2018
भारतीय जनता पार्टी से करीबी संबंध रखने वाले धार्मिक नेता और अपने समर्थकों के बीच कथित आध्यात्मिक और सियासी रसूख रखने वाले भय्यूजी महाराज ने खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली है. उन्होंने अपने सिर में गोली मारी थी. जिसके बाद उन्हें तुरंत इंदौर के बॉम्बे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. अभी तक उनकी खुदकुशी के कारण का पता नहीं चल सका है. भय्यूजी ने पहली पत्नी की मौत के बाद पिछले साल ही दूसरी शादी की थी. ....  समाचार पढ़ें
गूगल ने पीएच स्केल के खोजकर्ता डैनिश वैज्ञानिक एसपीएल सॉरेन्सन पर बनाया डूडल जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 29, 2018
आज गूगल ने अपना डूडल रसायन विज्ञान में महत्त्वपूर्ण खोज करने वाले डैनिश वैज्ञानिक एसपीएल सॉरेन्सन को समर्पित किया है. एसपीएल सॉरेन्सन का पूरा नाम सॉरेन पेडर लॉरिट्ज सॉरेन्सन है. इन्होंने ही रसायन विज्ञान के क्षेत्र में पीएच स्केल की खोज की थी. पीएच स्केल एक तरह का वैश्विक मात्रक होता है. इससे किसी पदार्थ की अम्लीय मात्रा को मापा जाता है. ....  समाचार पढ़ें
गूगल ने भारतीय समाज सुधार आंदोलन के जनक राजा राममोहन राय को डूडल बनाकर किया याद जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 22, 2018
सर्च इंजन गूगल ने आज भारतीय समाजसुधार आंदोलन के जनक और ब्रह्म समाज के संस्थापक राजा राममोहन राय को अपना डूडल समर्पित किया है. आज राजा राममोहन राय की २४६वीं जयंती है. इस डूडल पर क्लिक करते ही राजा राममोहन राय से जुड़े गूगल के तमाम पेज खुल जाएंगे, जो उनसे जुड़ी विभिन्न तरह की सामग्री से भरे हुए हैं. ....  समाचार पढ़ें
आनंद सिंह बने आईआईटी मुंबई में असिस्टेंट प्रोफेसर, ब्युरी गाँव में जश्न का माहौल अमिय पाण्डेय ,  May 21, 2018
कहते है कि कुछ भी करने की ठान लो तो कोई भी लक्ष्य भी मुश्किल नही है। कुछ ऐसा ही है क्षेत्र के ब्युरी गाँव के आनंद सिंह के साथ जिनका चयन आईआईटी मुंबई में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर हुआ है।क्षेत्रवासियों में उनके चयन पर हर्ष व्याप्त है। कृषक ....  समाचार पढ़ें
सनातन गौरव दिवस के रूप में मनाया जाएगा शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती का जन्मदिन सूरज कुमार पाण्डेय ,  May 14, 2018
बिहार की राजधानी में प्रबुद्ध और आध्यात्मिक रुझान वाले लोगों ने जगतगुरु शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती जी महराज के जन्मदिवस को सनातन गौरव दिवस के रूप में देश भर में मनाने का फैसला लिया है. इस दिन तय हुआ है कि हर घर में दीपक जलाकर नकारात्मक ऊर्जा को रोका जाएगी. ....  समाचार पढ़ें
धरती को बचाना है तो हर कोई लगाए 5 पेड़ः 'वृक्ष बंधु' परशुराम सिंह अमिय पाण्डेय ,  Jul 09, 2018
पिछले दो दशक में एक लाख से ज्यादा पेड़ लगा कर उनकी देखभाल करने वाले परशुराम सिंह का मानना है कि बच्चों को शुरू से ही पर्यावरण के प्रति सचेत रहने कि शिक्षा दी जाये ताकि वे भविष्य में पर्यावरण को संतुलित रख सकें. गांव-गांव जाकर पर्यावरण के प्रति जागरूक करने के चलते सिंह को 'वृक्ष बंधू' की उपाधि मिल चुकी है और उन्हें मिले अवार्डों से उनका पूरा एक कमरा भरा है. ....  लेख पढ़ें
स्वामी सहजानन्द सरस्वती: उनसा दूजा कोई नहीं, शायद इतिहास खुद को दुहरा न पाए! गोपाल जी राय ,  Jun 29, 2018
भारतीय राजनीति में जब भी किसानों की चर्चा होती है तो उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर पहली बार संगठित करने वाले दंडी स्वामी स्वामी सहजानन्द सरस्वती की याद बरबस आ जाती है। यदि यह कहा जाए कि स्वामी जी किसानों के पहले और अंतिम अखिल भारतीय नेता थे तो गलत नहीं होगा। दरअसल, वो पहले ऐसे किसान नेता थे जिन्होंने किसानों के सुलगते हुए सवालों को स्वर तो दिया, लेकिन उसके आधार पर कभी खुद को विधान सभा या संसद में भेजने की सियासी भीख आमलोगों से कभी नहीं मांगी ....  लेख पढ़ें
बीएस येदियुरप्पाः एक क्लर्क, जो 300 की नौकरी से सत्ता के शिखर तक पहुंचा जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 17, 2018
बीएस येदियुरप्पा 75 बसंत देख चुके हैं. उनका जन्म 27 फरवरी 1943 को राज्य के मांड्या जिले के बुकानाकेरे में सिद्धलिंगप्पा और पुत्तथयम्मा के घर हुआ था. चार साल की उम्र में ही उनकी मां का निधन हो गया. ....  लेख पढ़ें
श्रद्धांजलिः स्टीफन हॉकिंग, जिन्होंने कहा मृत्यु के बाद कोई जीवन या स्वर्ग नहीं जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 14, 2018
ब्रह्माण्ड और खगोलीय दुनिया के बारे में जानना जितना रोचक है, इस रहस्यमयी दुनिया को आम लोगों के बीच पहुंचाने वाले महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का जीवन उससे भी ज्यादा प्रेरक और रोमांचित करने वाला है. 8 जनवरी 1942 को ऑक्सफोर्ड में जन्में स्टीफन हॉकिंग के पिता रिसर्च बायोलॉजिस्ट थे और मां इकॉनमी की स्टूडेंट थीं. लेकिन द्वितीय विश्वयुद्ध के चलते जन्म के बाद ही उन्हें अपनी मां के साथ लंदन जाना पड़ा. ....  लेख पढ़ें
राहुल गांधीः एक अनिच्छुक राजनीतिज्ञ से कांग्रेस अध्यक्ष पद तक की यात्रा अजय पुंज ,  Dec 11, 2017
राहुल गांधी अब कांग्रेस अध्यक्ष हैं. एक ऐसा नेता जो राजनीति में आने के लिए उत्सुक नहीं था, उसके पास अब कभी देश की सबसे पुरानी और बड़ी पार्टी की कमान है. कांग्रेस में औपचारिक रूप से राहुल युग शुरू हो चुका है. ....  लेख पढ़ें
अब मेरे पास भाई नहीं है: शशि कपूर के निधन से निढाल बिग बी का ब्लॉग जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 05, 2017
'हम ज़िंदगी को अपनी कहां तक सम्भालते, इस क़ीमती किताब का काग़ज़ ख़राब था' - हिंदी फिल्मों के महानायक अमिताभ बच्चन ने अपने दोस्त शशि कपूर के निधन पर एक ब्लॉग लिखा है और बिग बी ने अपने ब्लॉग की शुरुआत रूमी जाफरी के इसी शेर से की है. ....  लेख पढ़ें
प्रियरंजन दासमुंशीः एक अद्भुत संगठनकर्ता, जो छात्र राजनीति से परवान चढ़ा जनता जनार्दन संवाददाता ,  Nov 20, 2017
कांग्रेस का हमेशा हंसता, मुस्कराता पर पिछले नौ सालों से कोमा में रहने वाला एक खास चेहरा अब हमारे बीच नहीं है. एक वक्त था, जब प्रियरंजन दासमुंशी पश्चिम बंगाल ही नहीं, राजधानी दिल्ली में भी कांग्रेस के सबसे प्रिय नेता हुआ करते थे. ....  लेख पढ़ें
विस्तार है अपार, प्रजा दोनों पार, करे हाहाकार...भूपेन दा की स्मृति में ओंकारेश्वर पांडेय ,  Nov 08, 2017
भूपेन हजारिका के विविध रूपों को आप देखें तो आप पाएंगे कि वे सही मायनों में लोक वैज्ञानिक थे। असम की माटी की सोंधी महक को सुरों में पिरो कर उन्होंने असमिया लोक संगीत को देश-विदेश में प्रचारित किया। वे असम की जनता की चार पीढ़ियों के अविवादित रूप से सबसे चहेते गायक माने जाते हैं। बिहू समारोहों में लोग रात-रात भर बारिश में भींगते हुए उनको गाते हुए देखते-सुनते थे। वे ऐसे विलक्षण कलाकार थे जो अपने गीत खुद लिखते थे, संगीतबद्ध करते थे और गाते थे। उन्हें दक्षिण एशिया के श्रेष्ठतम जीवित सांस्कृतिक दूतों में से एक माना जाता है। ....  लेख पढ़ें
हिम्मत की पहचान एक इनसान को उसका जन्मदिन मुबारक! हैप्पी बर्थ डे सबीहा शेष नारायण सिंह ,  Nov 08, 2017
बंटवारे के बाद जन्मी यह लडकी आज (आठ नवम्बर) को अड़सठ साल की हो गयी. जो लोग सबीहा को जानते हैं उनमे से कोई भी बता देगा कि उन्होंने सैकड़ों ऐसे लोगों की जिंदगियों को जीने लायक बनाने में योगदान किया है, जो अँधेरे भविष्य की ओर ताक रहे थे. वह किसी भी परेशान इनसान के मददगार के रूप में अपने असली स्वरुप में आ जाती हैं. ....  लेख पढ़ें
पत्रकार राधेश्याम तिवारी का न होना, सच तो नहीं जय प्रकाश पाण्डेय ,  Oct 02, 2017
ठीक से याद नहीं कि श्री राधेश्याम तिवारी से पहली मुलाक़ात कब हुई थी. दिल्ली प्रेस में संपादकीय प्रभारी वाले दौर में संभवत: लेखन के सिलसिले में बातचीत शुरू हुई थी, और जब वहां व्यवस्थित कार्यालय खुला और प्रतीक कुमार को संपादकीय जिम्मेदारी दी गयी, संभवत: तभी हमारी मुलाक़ात हुई. ....  लेख पढ़ें
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख