Wednesday, 27 March 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
सोशल मीडिया
  • खबरें
  • लेख
होली के रंग में रंगा आज का Google Doodle, आप भी देखिए जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 21, 2019
आज पूरा देश रंगों में डूबा हुआ है. हर तरफ होली का जश्न है तो भला Google इस जश्न से कैसे अनछुआ रह सकता था. आज रंगो के इस त्योहार को Google भी एक कलरफुल Doodle के साथ मना रहा है. गूगल ने अपने इस डूडल में कई रंगो का प्रयोग किया है जिससे यह बेहद खास लग रहा है. Google का ये Doodle रंगों ....  समाचार पढ़ें
WhatsApp: ये टॉप ट्रिक्स आपको बना देंगे चैट एक्सपर्ट जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 22, 2018
WhatsApp Tips अगर आप वॉट्सऐप का इस्तेमाल करते हैं और चैट एक्सपर्ट बनना चाहते हैं तो हम आपको यहां कुछ टिप्स बता रहे हैं. ....  समाचार पढ़ें
इटली में नहीं, यहां शादी करेंगे दीपिका-रणवीर? जनता जनार्दन संवाददाता ,  Oct 24, 2018
वैसे दीपिका और रणवीर ने अपने फैंस से किया वादा निभाया है. उन्होंने पिछले कई इंटरव्यू में कहा था कि ''शादी के बारे में जैसे ही सबकुछ तय होगा मीडिया और फैंस को सूचना हम खुद देंगे ....  समाचार पढ़ें
आधार डिटेल्स को सुरक्षित रखने के लिए अपनाएं ये स्टेप्स जनता जनार्दन संवाददाता ,  Aug 02, 2018
सरकार ने लोगों को अपना आधार नंबर पैन कार्ड, बैंक अकाउंट समेत कई अन्य चीजों के साथ लिंक करने के निर्देश दिए हैं। इससे सराकर आधार के नाम पर हो रहे फ्रॉड को रोकना चाहती है। आधार कार्ड में बायोमैट्रिक और डेमोग्राफिक डाटा मौजूद होता है। इनमें फिंगरप्रिंट, रेटीना और फोटो ....  समाचार पढ़ें
मोबाइल को आधार से लिंक करना होगा आसान जनता जनार्दन डेस्क ,  Oct 26, 2017
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आधार लिंक की अनिवार्यता को लेकर केंद्र सरकार को चुनौती दी है। कोलकाता में ममता ने कहा कि वह अपना मोबाइल कनेक्शन बंद करवाने को तैयार हैं, लेकिन वह अपने फोन को आधार से लिंक नहीं कराएंगी। ममता ने लोगों से कहा कि मैं आपसे इसी अंदाज में विरोध करने की अपील करती हूं। वह कितने लोगों के टेलिफोन कनेक्शन काटेंगे? क्या वे (बीजेपी) लोगों की गुप्त बातों को सुनना चाहते हैं? यह लोगों की प्राइवेसी पर सीधा हमला है ....  समाचार पढ़ें
ताजमहल पर संगीत सोम के विवादित बयान से बवाल, ओवैसी ने उठाया सवाल जनता जनार्दन डेस्क ,  Oct 16, 2017
बीजेपी विधायक संगीत सोम ने ताजमहल को देश के इतिहास का हिस्सा मानने पर आपत्ति जताई है. मेरठ में एक सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ''कैसा इतिहास? उसको बनाने वाला हिंदुओं को मिटाना चाहता था. ....  समाचार पढ़ें
करते हैं ईमेल का इस्तेमाल तो सावधान, आप पर मंडरा रहा है साइबर खतरा जनता जनार्दन डेस्क ,  Oct 14, 2017
इस्तेमाल तो सावधान, आप पर मंडरा रहा है साइबर खतरा ईमेल का इस्तेमाल करने वालों को किसी भी दूसरे मैलवेयर की तुलना में ईमेल के माध्यम से साइबर खतरे का सामना करने की संभावना दोगुना से अधिक होती हैं ....  समाचार पढ़ें
मल्लिका-ए-गजल को गूगल ने दी डूडल बनाकर सलामी जनता जनार्दन डेस्क ,  Oct 07, 2017
बेगम अख्तर को गजल की मलिका कहा जाता था और आज अगर वो होतीं तो 103 साल की होतीं। 'ऐ मोहब्बत तेरे अंजाम पे रोना आया...' जैसी मशहूर गजलों के अलावा भी बेगम अख्तर की संगीतमय विरासत के कई पहलू हैं लेकिन इसके साथ ही उनकी जिंदगी के कई अनकहे पहलू भी हैं जो बेहद ही दिलचस्प हैं जो उनकी एक अलग और अनोखी शख्सियत से रूबरू कराते हैं। एक बात और गूगल ने भी आज इनकी शान में एक शानदार डूडल बनाया है। ....  समाचार पढ़ें
सास-बहु के मजेदार किस्से, सास भी खुश और बहु भी खुश अमिय पाण्डेय ,  Jul 28, 2017
सोशल मीडिया पर हमेशा छाए रहने वाले किस्सों में सा-बहू पर छाए रहने वाली नोंकझोंक से जुड़े जोक्स का नंबर सबसे ऊपर होगा. यहां हम आपके लिए हंसी की फुहार का ऐसा ही पिटारा परोस रहे, जिसे हमने लिया है, व्हाट्सएप और फेसबुक से. लीजिए आप भी इनका मजाः ....  समाचार पढ़ें
'औरतों की ईद'- एक कविताः ईद मुबारक कहते हुए अरशाना अज़मत ,  Jun 26, 2017
औरतों की ईद यानी ..रोज के मुकाबले जल्दी जगने का दिन ..बावर्चीखाने में ज्यादा खटने का दिन ..ज्यादा खाना पकाने का दिन..ज्यादा तरह के खाने पकाने का दिन ..ज्यादा बर्तन धोने का दिन..ज्यादा सफाई करने का दिन.. / औरतों की ईद यानी ..रोज के मुकाबले देर से खाने का दिन..देर से नहाने का दिन..देर से बिस्तर में जाने का दिन..देर से टीवी देखने या न देखने का दिन.. ....  समाचार पढ़ें
टिप्पणी: आम आदमी को अमित मौर्य ,  Feb 04, 2019
आम आदमी को "आम" की तरह चूस रहे है मोदी जी मुग़ल कालीन जुमला है "कत्ले आम" यानी यहाँ भी आम आदमी का ही क़त्ल होता था ...अंग्रेजों के समय भी आम आदमी ही गुलाम था ...नेहरू से लेकर मोदी तक कभी भी आम आदमी की खैर नहीं रही ...आजादी के बाद से अब तक हर साल बजट लाखों करोड़ों की योजनाओं के बाद भी निम्न वर्ग आज भी वही खड़ा है जहाँ वो पहले खड़ा था किसान आज भी वैसे ही परेशान है जैसे पहले भी परेशान था लेकिन हुक्मरानों के चेहरों पर बेशर्मो की तरह मुस्कान है मध्य वर्ग के लोग लोन पर मकान या कार ख ....  लेख पढ़ें
जब मुंह खोलेंगे झूठ ही बोलेंगे, साहेब का मुंह है या झूठ का छापाखाना अमित मौर्या ,  Feb 01, 2019
साहेब से 'लल्लनटॉप मैजिक' की उम्मीद लगाई जनता सब सुनती रही देखती रही। टाइम बीतता गया तो कुछ जनता बिदकने लगी और कुछ इनके मैजिक पर सवाल खड़ी करने लगी।हद तो तब हो गयी जब जमूरे 'शाह' ने साहेब के एक मैजिक, की सबके जेब (खाते) में पन्द्रह लाख रुपये होंगे को जनता को सम्मोहित करने का 'जुमला मंत्र' बता दिया यहीं से जनता की हिप्नोटाइज हो चुकी आंखे खुलने लगी। ....  लेख पढ़ें
गणतंत्र बनाम गनतंत्र, हर तंत्र पर हावी होता गन अमित मौर्या ,  Jan 26, 2019
गणतंत्र का मतलब जहां का शासक राजा नही होता और देश की संम्पति पर उनका निजी हक नही होता। हमारा देश कहने को गणतांत्रिक व्यवस्था से चलता है, मगर यहां गनतंत्र यानी बंदूक का राज हर जगह है। जैसे बॉर्डर पर सैनिक गन लेकर ही सीमा रेखा की सुरक्षा करता है,देश में पुलिस फोर्स जनता की सुरक्षा में लगी रहती है। किसी विवादित धार्मिक परिसर को भी अर्धसैनिक बल गन लेकर ही सुरक्षा में रहते हैं। रेलेवे स्टेशन से लेकर हवाई अड्डों की सुरक्षा भी गनो की साये में रहती है। ....  लेख पढ़ें
भईया के नईया की खेवइया बनेंगी कार्यकर्ताओं की प्रिय, प्रियंका गांधी अमित मौर्या ,  Jan 23, 2019
हाल ही में तीन प्रदेश में बीजेपी को धूल चटा चुकी कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनाव में पूरी तैयारी और दम के साथ खम ठोकेंगी। इसलिए लंबे समय से पार्टी के बड़े नेताओं की यह मांग की प्रियंका गांधी को यूपी में लगाया जाय,को स्वीकारते हुए आज पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव बनाकर यूपी का प्रभारी बना दिया। कारण एक तो प्रियंका गांधी की छवि में कोई नरात्मकता नही है दूसरी बात की कार्यकर्ता प्रियंका में इंद्रा गांधी की झलक देखते हैं।बताया जाता है कि कार्यकर्ताओ से जल्दी घुलमिल जाने वाली प्रियंका को यूपी में प्रभारी बना कर इनके राजनीति कौशल को भी पार्टी परखेगी। यूपी ....  लेख पढ़ें
क्या हम ज्ञान, विज्ञान, विवेक और अपने मानसिक स्वस्थता से विमुख नहीं हो रहे हैं? त्रिभुवन ,  Jul 24, 2018
यह एक ख़तरनाक़ समानता है कि देश में निरीह मुस्लिमों के मॉब लिंचिंग मर्डर, ज्ञान-विज्ञान और विवेकवाद की बात करने वालों की हत्याएं और उन पर हमले और सुकुमार और असहाय बालिकाओं से नृशंस बलात्कार की घटनाएं एक साथ और एक ही तरह से चिंताजनक ढंग से बढ़ी हैं। यह सोचने की बात है कि क्या इन तीनों तरह की घटनाओं के बीच कोई अंतर्संबंध है? ....  लेख पढ़ें
मीडिया आजादी से पहले और बादः पत्रकारिता और पैसे के प्रलोभन का व्यभिचार वेश्यावृत्ति जितना आदिकालीन त्रिभुवन ,  May 31, 2018
पत्रकारिता का तो प्रमुख कर्तव्य हो गया है कि वह नायकत्व को स्वीकार करे और उसकी पूजा करे। उसकी छत्रछाया में समाचार पत्रों का स्थान सनसनी ने और विवेकसम्मत मत का विवेकहीन भावावेश ने ले लिया है। लार्ड सेलिसबरी ने नार्थक्लिप पत्रकारिता के बारे में कहा है कि वह तो कार्यालय-कर्मचारियों का लेखन है। भारतीय पत्रकारिता तो उससे भी दो कदम आगे निकल गई है। ....  लेख पढ़ें
पोस्ट ट्रुथ एरा में वायरल झूठ, मीडिया मिट्ठू और चतुर शिकारियों के सम्मोहक पिंजरों में छटपटाते सच की कहानी त्रिभुवन ,  Apr 07, 2018
यह एक विचित्र बात है कि मीडिया अक्सर विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका की भूमिका निभाने की कोशिशें करने लगता है, लेकिन जैसे ही कला, साहित्य और संगीत की बात आएगी तो वह इनसे आश्चर्यजनक दूरी बनाने लगता है। उच्च संस्कृति, स्वतंत्रता, समृद्धि और न्याय पर आधारित सौंदर्यबोध वाले समाज के निर्माण की आशा एक सुंदर फंतासी है। ....  लेख पढ़ें
सत्ता का राजपथ, जहां गांधी से लेकर शंबूक वध वाले देवताओं तक की सोच पर भारी पड़ते हैं अंबेडकर त्रिभुवन ,  Jun 20, 2017
भीमराव अंबेडकर ने जिस क्रांतिकारी सोच के बीज को भारतीय संविधान से लेकर भारतीय राजनीति की आत्मा तक में बो दिया, उसे न चाहते हुए भी, और अपनी मानसिकता पर लाख प्रहार सहने के बाद भी भारतीय राजनीतिक दलों के नेता उतारते को बेबस हैं। राष्ट्रपति पद के लिए रामनाथ कोविंद का नाम इसी का जीता-जागता प्रमाण है। ....  लेख पढ़ें
हंसो, कि हंसने के अलावा कुछ कर नहीं सकते जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 18, 2017
ऐसी दास्तान दुनिया के किसी देश में नहीं दिख रही थी कि अपने ही नागरिकों को अपने ही देश में गुस्ताख़ निगाही से देखा जा रहा था और अपने ही स्वर में स्वर साधने वाले आपराधिक वैताल परमप्रिय हो रहे थे। इसके भी, उसके भी। अब तक देश की जिंदगी एक आन में गुजरी थी, लेकिन अब हंसने में गुजर रही थी ....  लेख पढ़ें
भारतीय फौज पर पाकिस्तानी हमले पर व्यंग्यः लोंग लिव कायरता! लोंग लिव गुंडागर्दी! त्रिभुवन ,  May 06, 2017
अंतत: भक्त ने माहौल और अपनी कायरता की गहराई को भांप कर गुंडे को शांति वार्ता के लिए निमंत्रण दिया और इसे महान् शांति प्रस्ताव बताया। इसका अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रचार हुआ और सब लोगों ने कहा कि भक्त ने यह बेहतरीन कदम उठाया है। भक्त की इस कदम के लिए जितनी प्रशंसा की जाए, कम है। ....  लेख पढ़ें
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल