Monday, 18 December 2017  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
प्रकृति
  • खबरें
  • लेख
तूफान ओखी लाया ओले, मुंबई में भारी बारिश, गुजरात भी जद में, पीएम मोदी की अपील जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 05, 2017
केरल, तमिलनाडु और लक्षद्वीप में तबाही मचाने के बाद ओखी तूफान अब महाराष्ट्र और गुजरात की तरफ बढ़ रहा है. मंगलवार देर रात तक वह गुजरात के तट से टकरा सकता है. ओखी तूफान के असर से दोनों राज्यों के कई हिस्सों में तेज हवा के साथ जबरदस्त बारिश से सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. मुंबई में मंगलवार को बारिश के साथ ओले भी गिरे. बता दें कि चक्रवाती तूफान ओखी मुंबई से दक्षिण-पश्चिम की ओर 670 किलोमीटर की दूरी पर है. ....  समाचार पढ़ें
सुपरमून को आसमान में चांद इतना खूबसूरत क्यों दिखता है जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 03, 2017
सुपरमून की वजह से चांद हर दिन के मुकाबले 14 फीसदी बड़ा और 30 फीसदी ज्यादा चमकदार दिखाई देता है. इस बार लगातार 3 सुपरमून नजर आने वाले हैं. इनमें से यह पहला है. बाकि दो सुपरमून 1 जनवरी और 31 जनवरी, 2018 को नजर आएंगे. आज सुपरमून का यह नजारा रात 9:16 पर दिखाई देगा. ....  समाचार पढ़ें
दक्षिणी अंडमान में हवा के दबाव से आंध्र, तमिलनाडु, केरल, पुद्दुचेरी में भारी बारिश जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 02, 2017
चक्रवाती तूफान ओखी ने दक्षिण भारत में बारिश और बाढ़ की निशानी छोड़ी है. एक बार हवा का दबाव दक्षिणी अंडमान सागर में हुआ है, जिससे आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक, केरल और पुद्दुचेरी में भारी बारिश का कहर जारी है. कई इलाकों में बाढ़ आ चुकी है. ओखी की वजह से तमिलनाडु और केरल में मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. निचले इलाके पूरी तरह पानी में डूब गए हैं. ....  समाचार पढ़ें
चक्रवात 'ओखी' ने ली 8 की जान, 80 मछुआरे लापता, परिजनों का आरोप सरकार ने समय से नहीं बताया जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 01, 2017
बंगाल की खाड़ी में हवा का दबाव बना और दक्षिण भारत में एक बार फिर से चक्रवाती तूफान ने दस्तक दे दी है. नतीजा यह हुआ कि चक्रवात 'ओखी' के कारण तमिलनाडु और केरल के दक्षिणी जिलों में मूसलाधार बारिश हो रही है. पेड़ गिर गए हैं और अब तक दोनों राज्यों में आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. ....  समाचार पढ़ें
बंगाल की खाड़ी में हवा का दबाव ले रहा चक्रवाती रूप, तमिलनाडु, केरल में भारी बारिश की आशंका जनता जनार्दन संवाददाता ,  Nov 30, 2017
बंगाल की खाड़ी में बन रहा हवा का दबाव चक्रवात का रूप ले सकता है, जिससे समुद्रतटीय राज्यों में खास सावधानी बरतने की हिदायत दी गई है. भारत के मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले दो दिन में लक्षद्वीप द्वीप समूह चक्रवाती तूफान की चपेट में हो सकता है, इसके साथ ही तमिलनाडु, केरल में भी भारी बारिश की आशंका है. दोनों राज्यों के लिए अगले 24 घंटे काफी अहम बताए जा रहे हैं. ....  समाचार पढ़ें
केवल 11 प्रकाश वर्ष दूर मिला ऐसा ग्रह, जहां हो सकते हैं एलियंस जनता जनार्दन डेस्क ,  Nov 16, 2017
अंतरिक्ष विज्ञानियों को एक रिसर्च में पृथ्वी के नजदीक नए ग्रह का पता चला है, जहां जीवन की संभावना काफी अधिक है यानी वहां एलियंस हो सकते हैं. एक एस्ट्रोनोमी और एस्ट्रोफिजिक्स मैगजीन की रिपोर्ट में वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि पृथ्वी के आकारनुमा यह ग्रह रॉस 128 है. यह बहुत छोटा धुंधले लाल रंग का है और सिर्फ 11 प्रकाश वर्ष दूर है. ....  समाचार पढ़ें
हार्वे तूफान पकड़ रहा मजबूती, ट्रंप ने की मदद की घोषणा जनता जनार्दन डेस्क ,  Aug 27, 2017
अमेरिका में उष्णकटिबंधीय तूफान हार्वे मजबूती पकड़ते हुए 130 मील प्रति घंटे रफ्तार वाली हवाओं के साथ श्रेणी चार का तूफान बन गया है। ऐसे पूर्वानुमान जारी किए गए हैं कि यह देश के तेल शोधन उद्योग के केंद्र को निशाने पर ले सकता है और पिछले 12 साल में राज्य को निशाना बनाने वाला पहला बड़ा तूफान हो सकता है। ....  समाचार पढ़ें
अंटार्कटिक में पृथ्वी के सबसे बड़े ज्वालामुखीय क्षेत्र की खोज जनता जनार्दन डेस्क ,  Aug 15, 2017
वैज्ञानिकों ने अंटार्कटिक में बर्फ की चादर की सतह से दो किलोमीटर नीचे करीब 100 ज्वालामुखियों का पता लगाया है। दावा किया जा रहा है कि यह इलाका पृथ्वी का सबसे बड़ा ज्वालामुखीय क्षेत्र है। ब्रिटेन में एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने बताया कि इस क्षेत्र में 91 ज्वालामुखियों का और पता चला है। ....  समाचार पढ़ें
मानसूनी बरसात ने दिल्ली-एनसीआर में थामी ट्रैफिक की रफ्तार, ऑफिस, स्कूल वाले फंसे जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jul 20, 2017
देश की राजधानी दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र गुरुग्राम, गाजियाबाद, फरीदाबाद और नोएडा सहित उत्तर भारत के कई शहरों में बुधवार देर रात से हो रही तेज बारिश ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. उत्तर प्रदेश के कई शहरों में भारी बारिश से जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई है. ....  समाचार पढ़ें
धरती से महज 11 प्रकाश वर्ष दूर हैं एलियंस, आ रहे रेडियो सिग्नल जनता जनार्दन डेस्क ,  Jul 18, 2017
एलियंस की दुनिया हमारे इतना नजदीक भी हो सकती है, इसका भान अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को नहीं था. हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है, पर अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को पृथ्वी से करीब 11 प्रकाश वर्ष दूर एक छोटे और कम रोशनी वाले तारे की दिशा से रहस्यमयी रेडियो सिग्नल का पता चला है. ....  समाचार पढ़ें
घर में लगाएं ये लाभकारी पौधेः इनसे बचता है पर्यावरण, बनता है स्वास्थ्य, आती है समृद्धि श्वेता झा ,  Nov 30, 2017
हम सबको इसके लिए अपनी दिनचर्या में कुछ अहम बदलाव लाने होंगे. अब तक मैं, आप, हम सभी ने कई अवसरों पर अपने दोस्तों, रिश्तेदारों को बहुत से तोहफे दिए होंगे, बहुत से लिए भी होंगे, पर क्यों ना हम सब अब प्रण लें आने वाले समय में एक दूसरे को पेड़ पौधें गिफ्ट करें और एक कदम स्वच्छ हवा की ओर बढ़ाएं. ....  लेख पढ़ें
प्रकृति की अनदेखी का खामियाजा भुगतने को रहें तैयार जनता जनार्दन डेस्क ,  Jun 05, 2017
प्रकृति हो या मानव जीवन समाज हो अथवा देश, सभी की उचित स्थिति सुख-समृद्धि तभी तक रह सकती है, जब तक उनमें पर्याप्त संतुलन बना रहे। लेकिन कुछ सालों से पर्यावरण पूरी तरह से असंतुलित हो गया है। पर्यावरण दिवस मनाने के मायने क्या हैं, इसको समझना जरूरी है ....  लेख पढ़ें
पृथ्वी दिवस 2017: धरती माता को बचाने के लिए भारत की पहल पांडुरंग हेगड़े ,  Apr 21, 2017
संयुक्त राष्ट्र 22 अप्रैल को एक विशेष दिवस के रूप में पृथ्वी मातृ दिवस मनाता है। 1970 में 10000 लोगों के साथ प्रारंभ किये गये इस दिवस को आज 192 देशों के एक अरब लोग मनाते हैं। इसका बुनियादी उद्देश्य पृथ्वी की रक्षा और भविष्य में पीढ़ियों के साथ अपने संसाधनों को साझा करने के लिए मनुष्यों को उनके दायित्व के बारे में जागरूक बनाना है। ....  लेख पढ़ें
मानसून और पूर्वानुमानः कितनी सच्चाई, कितना फसाना मंजू चौहान ,  Apr 19, 2017
मानसून कृषि के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि आधी से ज्यादा खेती-बाड़ी मानसूनी बारिश पर ही निर्भर करती है। लेकिन जहां सिंचाई के साधन हैं भी, वहां भी मानसूनी बारिश जरूरी है, क्योंकि बारिश नहीं होगी तो नदियां-झीलें भी सूख जाएंगी जहां से सिंचाई के लिए पानी आता ....  लेख पढ़ें
गौरैया संरक्षण दिवस पर विशेषः आंगन से क्यों गायब हो रही नन्ही गौरैया जनता जनार्दन डेस्क ,  Mar 19, 2017
विज्ञान और विकास के बढ़ते कदम ने हमारे सामने कई चुनौतियां भी खड़ी की हैं, जिससे निपटना हमारे लिए आसान नहीं है। विकास की महत्वाकांक्षी इच्छाओं ने हमारे सामने पर्यावरण की विषम स्थिति पैदा की है, जिसका असर इंसानी जीवन के अलावा पशु-पक्षियों पर साफ दिखता है। ....  लेख पढ़ें
नर्मदा के लिए 'गांधी मॉडल' की जरूरत: पी वी राजगोपाल जनता जनार्दन डेस्क ,  Feb 17, 2017
ग्लोबलाइजेशन के इस दौर में नदियों पर बांध बनाकर बिजली पैदा करने के लिए बड़ी कंपनियों को निवेश के लिए बुलाकर उन्हें जमीन देने की होड़ मची हुई है, यहीं से समस्या पैदा हो रही है। यह पूरी तरह चीनी मॉडल है, जो सब पर हावी है। जहां तक नर्मदा परिक्रमा की बात है, इससे नदी के प्रति जागृति तो आ सकती है। मगर इससे नर्मदा अविरल और प्रवाहमान हो पाएगी, इसमें संदेह है।” ....  लेख पढ़ें
भारत सरकार के साथ गड़बड़ क्या है? पशु अधिकार कार्यकर्ताओं ने पूछा कुशाग्र दीक्षित ,  Jun 19, 2016
जीवों के संरक्षण और पर्यावरण संवेदनशील देश के रूप में भारत की छवि बनाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान के बावजूद सरकार द्वारा 'नाशक जीवों' की हत्या का समर्थन करने से विदेशों में भारत की छवि धूमिल हुई है. नतीजा है कि विश्व भर में 15 लाख लोग पूछ रहे हैं कि 'भारत सरकार के साथ गड़बड़ क्या है?' ....  लेख पढ़ें
सूखे के कारण प्रवासी पक्षियों ने तेलंगाना से मुंह मोड़ा मोहम्मद शफीक ,  May 16, 2016
बीते दो साल से जारी जबरदस्त सूखे के कारण बहुत कम संख्या में प्रवासी पक्षियों ने तेलंगाना का रुख किया है. ऐसे में जबकि हैदराबाद की अधिकांश झीलें सूखने के कगार पर हैं, प्रवासी पक्षियो ने उन झीलों का रुख किया है, जहां अभी भी पानी मौजूद है. ....  लेख पढ़ें
वर्ष 2025 तक भयंकर जल संकट वाला देश बन जाएगा भारत जनता जनार्दन डेस्क ,  Apr 17, 2016
देश के अलग-अलग हिस्सों की प्यास से जुड़ी तस्वीरें दिखाने के बाद, अब हम पानी से संबंधित कुछ चिंताजनक आंकड़े आपके सामने रखना चाहते हैं। ये वो आंकड़े हैं जो आपको ना तो कहीं देखने को मिलेंगे और ना ही कोई आपको पानी की गंभीर स्थिति के बारे में बताएगा। एवरीथिंग अबाउट वॉटर नाम की कंसल्टिंग फर्म की रिपोर्ट के मुताबिक भारत, वर्ष 2025 तक भयंकर जल संकट वाला देश बन जाएगा।। ....  लेख पढ़ें
विश्व जल दिवस 2016: तो क्या अगला विश्वयुद्ध पानी के लिए होगा? जनता जनार्दन डेस्क ,  Mar 23, 2016
दुनिया में जिस तरह से पानी को लेकर संकट उससे लगता है तेल के समान उसको लेकर भी युद्ध होगा. जल के बिना जीवन की कल्पना असंभव है, लेकिन इसकी कमी के बीच जीवन कितना कष्टकर होगा ये उससे भी बड़ी जीवंत विडंबना है. देश के कई हिस्सों में अभी से जबरदस्त जल संकट गहरा गया है. ....  लेख पढ़ें
वोट दें

दिल्ली प्रदूषण से बेहाल है, क्या इसके लिए केवल सरकार जिम्मेदार है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल