Sunday, 20 September 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
Aug 03, 2013: 3 अगस्त पुण्य तिथि और जन्म शताब्दी पर  भारत के स्वाधीनता संग्राम और फिर राष्ट्र निर्माण में जिन महान जननायकों ने ऐतिहासिक योगदान दिया और अपने कामों से एक आदर्श और प्रेरक के ...

by अरविंद कुमार सिंह
Jul 07, 2012: नई दिल्ली: राजनीति और राजनीतिक दलों को लेकर आज बहुत तरह की नकारात्मक टिप्पणियां की बाढ़ सी आ गयी है। ऐसी टिप्पणियों का असर यह हुआ है कि राजनेताओं ही नहीं संसद औऱ विधानसभाओं जैसी सबस...

by अरविंद कुमार सिंह
Jun 22, 2011: उ.प्र.के मौजूदा रायबरेली तथा उन्नाव जिले के एक बड़े हिस्से में 1857 में क्रांति की जो मशाल जली थी, उसके महाननायक थे राणा बेनीमाधव जिन्होने हजारों किसानो, मजदूरों की मदद से अंग्रेजी...

by अरविंद कुमार सिंह
May 10, 2011: ...

by अरविंद कुमार सिंह
Apr 11, 2011: हाल में विख्यात समाजसेवी अन्ना हजारे ने जन लोकपाल विधेयक को लेकर नयी दिल्ली में जंतर मंतर पर आमरण अनशन करके महज चार दिन में सरकार को झुका दिया। उनको देश भर से व्यापक जनसमर्थन भी हासिल हुआ। लेक...

by अरविंद कुमार सिंह
अरविंद कुमार सिंह
अरविंद कुमार सिंह 7 अप्रैल 1965 को उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में जन्मे अरविंद कुमार सिंह ने पत्रकारिता और लेखन की दुनिया में बड़ा नाम कमाया है। पत्रकारिता की शुरूआत 1983-84 में दैनिक जनसत्ता से। चौथी दुनिया, अमर उजाला, जनसत्ता एक्सप्रेस, इंडियन एक्सप्रेस (लखनऊ संस्करण) तथा दैनिक हरिभूमि में लंबे समय तक कार्य। आकाशवाणी, दूरदर्शन, लोकसभा टीवी और कई अन्य टीवी चैनलों पर नियमित विषय विशेषज्ञ । दिल्ली सरकार की प्रेस मान्यता समिति समेत कई समितियों के सदस्य भी रहे। विभिन्न विश्वविद्यालयों में अतिथि प्राध्यापक और परीक्षक। 'भारतीय डाक: सदियों का सफरनामा' पुस्तक हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू तथा कई भारतीय भाषाओं में एन.बी.टी. द्वारा प्रकाशित। पुस्तक का एक खंड एनसीईआरटी द्वारा आठवीं कक्षा के हिंदी पाठ्यक्रम में। हिंदी अकादमी द्वारा साहित्यकार सम्मान (पत्रकारिता), इफ्को हिंदी सेवी सम्मान-2008, विद्याभाष्कर पुरस्कार, गणेश शंकर विद्यार्थी स्मृति समाजोत्थान और रचनात्मक पत्रकारिता पुरस्कार समेत दर्जन भर पुरस्कारों से सम्मानित।

वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल