Monday, 18 December 2017  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
Dec 18, 2017: 'क्या हार में क्या जीत में किंचित नहीं भयभीत मैं...', वैसे तो यह पंक्तियां कही थीं, भाजपा के शीर्ष पुरूष अटल विहारी वाजपेयी ने पर यह राहुल गांधी पर सटीक बैठती है. राहुल अंततः कांग्र...

by जय प्रकाश पाण्डेय
Nov 14, 2017: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एशिया के अपने दौरे के दौरान भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर एशिया पर राज करने की बात कह रहे हैं, पर उनका विकसित देश खुद नफरत और आतंक...

by जय प्रकाश पाण्डेय
Jul 11, 2017: दुनिया हर साल ग्यारह जुलाई को 'विश्व जनसंख्या दिवस' मनाती  है, पर बढ़ती आबादी पर नियंत्रण को लेकर चीन और कुछ योरोपीय देशों को छोड़ दें तो ज्यादातर देशों के पास कोई स्पष्ट नीति ...

by जय प्रकाश पाण्डेय
Jul 04, 2017: 'एक राष्ट्र, एक बाजार और एक कर' के लुभावने नारे के बीच देश की अर्थव्यवस्था की तस्वीर बदलने का दावा करने वाला गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स यानी कि जीएसटी एक जुलाई को आधी रात से ही लागू ...

by जय प्रकाश पाण्डेय
Feb 20, 2017: आम बजट पर संसद में अभी बहस पूरी तरह खत्म नहीं हुई है. बजट सत्र काफी लंबा चलता है. फिर इस साल तो उसमें रेल बजट भी शामिल है. हालांकि बजट हर साल आता है, पर क्या वाकई आम बजट का आम नागरिकों से क...

by जय प्रकाश पाण्डेय
Jan 22, 2017: अमेरिका की पहचान विविधता है. इसे विचारधारा का संशय कहें या ऐतिहासिक बदलाव की घड़ी, पर बीस जनवरी को अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के रूप में डोनाल्ड ट्रंप के शपथ लेने के साथ ही दुनिया सह...

by जय प्रकाश पाण्डेय
Nov 11, 2016: डोनाल्ड ट्रंप अब अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति हैं. वह ट्रंप, जो अमेरिका के सबसे रईस लोगों में से एक हैं, पर जिनकी तुनकमिजाजी को मीडिया में इस तरह प्रचारित किया गया कि उनकी छवि एक ...

by जय प्रकाश पाण्डेय
Oct 17, 2016: बारामूला में भारत के सैन्य ठिकानों पर पाकिस्तान समर्थित आतंकी हमलों के बीच भारत द्वारा सीमारेखा पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक जो कि पठानकोट और उरी हमलों के बाद जरूरी हो गई थी, के बावजू...

by जय प्रकाश पाण्डेय
Oct 02, 2016: पंद्रह अगस्त, छब्बीस जनवरी और दो अक्टूबर को राष्ट्रीय पर्व की तरह मनाने की बचपन से ही मेरे हम उम्र लोगों की आदत सी रही है, जो अभी तक कायम है. उस लिहाज से हमारे जैसे लोगों के लिए आज 'रा...

by जय प्रकाश पाण्डेय
Jun 19, 2016: दिल्ली के अखबारों, टेलीविजन चैनलों और मेट्रो ट्रेन में उत्तर प्रदेश सरकार के विज्ञापनों को देखकर यह अंदाज लगाना कोई मुश्किल नहीं कि वहां चुनाव दहलीज पर हैं. पर जाति के बिना क्या उत...

by जय प्रकाश पाण्डेय
जय प्रकाश पाण्डेय
जय प्रकाश पाण्डेय 14 साल की उम्र से अख़बारों में लेखन शुरू कर देने वाले जय प्रकाश पाण्डेय ने राजनीति विज्ञान से स्नातकोत्तर और पत्रकारिता सहित 8 विषयों से स्नातक की डिग्री हासिल की और पत्रकारिता के अपने जुनून के चलते डॉक्टरेट अधूरा छोड़ दिया। दिल्ली में एक समाचार एजेन्सी के कार्यकारी संपादक, और एक बड़े पत्रिका समूह के प्रकाशकीय संपादक बने। हर विषय पर लिखा और चर्चित हुए। फिलहाल, आन लाइन मीडिया के चर्चित पोर्टल समूह 'फेस एन फैक्ट्स' के प्रबंध संपादक और ड्रीम प्रेस कंसलटेंट्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

वोट दें

दिल्ली प्रदूषण से बेहाल है, क्या इसके लिए केवल सरकार जिम्मेदार है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल