Wednesday, 23 October 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
गांव-गिरांव
एक दिन में 47,000 रोजगार देकर उत्तर प्रदेश के एक जिले ने बनाया रिकार्ड मोहित दुबे ,  May 05, 2016
दुनिया भर में रविवार को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाया गया। लेकिन लखनऊ से 130 किलोमीटर दूर गोंडा शहर में इस दिन 47,000 ग्रामीण रोजगार का सृजन कर एक तरह का रिकार्ड बना लिया है। हालांकि इस रिकार्ड को ज्यादा प्रचारित नहीं किया गया है, जबकि पहले यह राज्य ग्रामीण रोजगार योजना मनरेगा के अंतर्गत ग्रामीण रोजगार का सृजन नहीं करने को लेकर बदनाम था। ....  लेख पढ़ें
किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करना हवाई लक्ष्य  अभिषेक वाघमारे ,  Mar 31, 2016
महंगाई को समायोजित करने के बाद देश के किसानों की आय 2003 से 2013 के बीच एक दशक में सालाना पांच फीसदी की दर से बढ़ी। इसे देखते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अगले पांच साल में किसानों की आय दोगुनी करने की घोषणा पर संदेह होता है। ....  लेख पढ़ें
जहां सिर्फ महिलाए मनाती हैं रंगों का पर्व जनता जनार्दन डेस्क ,  Mar 20, 2016
उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुंदेलखंड क्षेत्र के हमीरपुर जनपद के कुंडरा गांव में सिर्फ महिलाएं ही होली खेलती हैं। यहां पुरुषों का होली खेलना वर्जित है। दिलचस्प बात है कि जब देश-विदेश में पुरुष समुदाय होली के दिन रंग में रंगा होता है और इसका आनंद ले रहा होता है, वहीं बुंदेलखंड के इस छोटे से गांव में होली के दिन गांव के सभी पुरुष खेतों में या किसी दूसरे काम से कहीं बाहर चले जाते हैं। ....  लेख पढ़ें
देश में हर रोज ढाई हजार किसान छोड़ रहे हैं खेती किसानी जनता जनार्दन डेस्क ,  Feb 14, 2016
घाटे का सौदा होने के कारण हर रोज ढाई हजार किसान खेती छोड़ रहे हैं। और तो और देश में अभी किसानों की कोई एक परिभाषा भी नहीं है। वित्तीय योजनाओं में, राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो और पुलिस की नजर में किसान की अलग अलग परिभाषाएं हैं।ऐसे में किसान हितों से जुड़े लोग सवाल उठा रहे हैं कि कुछ ही समय बाद पेश होने वाले आम बजट में गांव, खेती और किसान को बचाने के लिए क्या पहल होगी। ....  लेख पढ़ें
खुले में शौच से मुक्त हुआ रायपुर जिले का ग्राम 'निनवा' जनता जनार्दन संवाददाता ,  Feb 10, 2016
छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले का ग्राम पंचायत निनवा ने ग्रामीणों के सामूहिक प्रयास से खुले में शौचमुक्त गांव होने की उपलब्धि तीन महीने में ही पा ली है। निनवा के सरपंच गिरेंद्र साहू ने बताया कि निनवा ग्राम पंचायत रायपुर जिले की खुले में शौच से मुक्त होने वाली पहली ग्राम पंचायत है।स्वच्छ भारत अभियान के तहत निनवा में पिछले वर्ष 11 मार्च से अभियान की शुरुआत हुई, लोगों को स्वच्छता और स्वास्थ्य के महत्व को बताने के लिए वे स्वयं, पंचों और ग्रामीणों के दल के साथ घर-घर गए और ग्रामीणों को घरों में शौचालय के निर्माण कराने के लिए प्रोत्साहित किया। ....  लेख पढ़ें
गाय ने बदल दी गांव की जिंदगी संदीप पौराणिक ,  Jan 29, 2016
मध्यप्रदेश के रायसेन जिले के इमलिया गौंडी गांव के लोगों की जिंदगी में गौ-पालन ने बड़ा बदलाव ला दिया है। एक तरफ जहां वह लोगों के रोजगार का जरिया बन गई है, वहीं गाय की सौगंध खाकर लोग नशा न करने का संकल्प भी ले रहे हैं। इमलिया गौंडी गांव में पहुंचते ही 'गौ संवर्धन गांव' की छवि उभरने लगती है, क्योंकि यहां के लगभग हर घर में एक गाय है। इस गाय से जहां वे दूध हासिल करते हैं, वहीं गौमूत्र से औषधियों और कंडे (उपला) का निर्माण कर धन अर्जन कर रहे हैं। इस तरह गांव वालों को रोजगार भी मिला है। ....  लेख पढ़ें
बुंदेलखंड: 70 हजार आबादी को पानी नसीब नहीं जनता जनार्दन डेस्क ,  Jan 12, 2016
उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुंदेलखंड के हमीरपुर जिले के सुमेरपुर कस्बे की जनता को सुबह-शाम पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है। लोग हैंडपम्पों के सहारे प्यास बुझाने को विवश हैं। जल संस्थान का कहना है कि रोस्टर में आए बदलाव से ऐसा हो रहा है। यदि सहजना, पत्योरा व सुमेरपुर के तीनों फीडर सुबह-शाम एक साथ चलाए जाएं तो पेयजल की समस्या खत्म हो सकती है। ....  लेख पढ़ें
हम भी दरिया हैं हमें अपना हुनर मालूम है... जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 05, 2015
हम भी दरिया हैं, हमें अपना हुनर मालूम है, जिस तरफ भी चल पड़ेंगे, रास्ता हो जाएगा। एक शायर का यह शेर पुष्पा पर जीवंत हो उठता है। पुष्पा जब एकांत में बैठकर पढ़ाई करती है तो एक नई इबारत लिख देती है और जब आधुनिक युग में सूचना प्रौद्योगिकी के प्रयोग की बात आती है तो वह अपनी जीवटता के बल पर लोहा मनवाती है। ....  लेख पढ़ें
काली मां को प्रसन्न करने के लिए बरसाते हैं पत्थर जनता जनार्दन डेस्क ,  Nov 13, 2015
शिमला के एक गांव में ऐसी दीपावली मनाई जाती है यहा पत्थरों का ऐसा खूनी खेल खेला गया जिसे देखकर आप हैरान रह जाएंगे। शिमला से 25 किलोमीटर दूर धामी में हजारों लोगों ने सदियों साल पुरानी परंपरा को निभाने के लिए एक दूसरे पर पत्थर बरसाए। जिसे पत्थर फेंक दीपावली नाम दिया जाता है। ....  लेख पढ़ें
कृषि मंत्रालय की नजर में यहां किसान आत्महत्या नहीं करते जनता जनार्दन डेस्क ,  Oct 19, 2015
केंद्रीय कृषि मंत्रालय के मुताबिक, विगत 15 वर्षो में बिहार और राजस्थान में कृषि संबंधित कारणों से एक भी किसान ने आत्महत्या नहीं की है. लेकिन राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) द्वारा जारी आंक़डों में बिल्कुल विपरीत बात कही गई है." ....  लेख पढ़ें
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल